खाद की कालाबाजारी को लेकर योगी सरकार सख्‍त, 623 लाइसेंस निलंबित, 17 दुकानें सील, 35 के खिलाफ FIR दर्ज

खाद की कालाबाजारी को लेकर योगी सरकार सख्‍त, 623 लाइसेंस निलंबित, 17 दुकानें सील, 35 के खिलाफ FIR दर्ज

0
197

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के CM Yogi Adityanath ने खाद की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ रविवार को बड़ी कार्रवाई की है. सीएम योगी के निर्देशों के बाद प्रदेश में खाद की दुकानों पर औचक निरीक्षण की कार्रवाई तेजी से चल रही है. खाद की कालाबाजारी की शिकायतों का संज्ञान लेते हुए हो रही इस प्रदेशव्यापी विशेष कार्रवाई में अब तक 623 विक्रेताओं का लाइसेंस निलंबित करने के साथ-साथ 35 के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई गई है. कुल 9,747 दुकानों पर औचक निरीक्षण करते हुये 3,287 खाद के नमूने लिए गए.

517 विक्रेताओं को कारण बताओ नोटिस

विभिन्न गड़बड़ियों के दृष्टिगत अब तक 623 विक्रेताओं का लाइसेंस निलंबित किया गया है, जबकि 517 विक्रेताओं को कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब-तलब करने की कार्यवाही की गई है. यही नहीं, कालाबाजारी कर रहे 22 विक्रेताओं का लाइसेंस भी निरस्त किया गया जबकि 35 दुकानों की बिक्री प्रतिबंधित कर संबंधित के खिलाफ सुसंगत धाराओं में एफआईआर भी दर्ज कराई गई है. 17 दुकानों को सील भी किया गया है, जबकि 666 विक्रेताओं को चेतावनी दी गई है.

अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी ने बताया कि आकस्मिक निरीक्षण कार्यवाही के अंतर्गत बीते 19-20 अगस्त को प्रदेश के सभी जिलों में खाद की दुकानों का सघन औचक निरीक्षण किया गया. 20 अगस्त को 3,119 स्थानों का निरीक्षण करते हुए 653 नमूने लिए गए. नियम विरुद्ध बिक्री की शिकायतों के दृष्टिगत 247 विक्रेताओं से जवाब-तलब किया गया है जबकि 158 दुकानों के लाइसेंस निलंबित किये गए  तो 15 दुकानों के लाइसेंस निरस्त करने की कार्रवाई हुई।

चतुर्वेदी के मुताबिक 20 अगस्त की इस कार्यवाही में 94 दुकानों को चेतावनी जारी करते हुये 15 दुकानों पर बिक्री प्रतिबंधित की गई, साथ ही 06 दुकानें सील कर दी गईं. 34 विक्रेताओं के विरुद्ध एफआईआर भी दर्ज कराया गया. इसी क्रम में एक दिन पहले 19 अगस्त को प्रदेश में 3,109 स्थानों पर औचक निरीक्षण कर 1,059 नमूने लिए गए. 270 लोगों को कारण बताओ नोटिस जारी की गई साथ ही, 228 दुकानों का लाइसेंस निलंबित भी किया गया. कालाबाजारी की पुष्टि होने पर 12 दुकानों की बिक्री प्रतिबंधित कर दी गई जबकि 06 दुकानों को सील करने की कार्यवाही भी हुई.

35 दुकानदारों के खिलाफ FIR दर्ज

इससे पहले, बीते माह 22 जुलाई को को 3,519 जगहों पर छापे मारे गए, 1,575 नमूने लिए गए, 237 लाइसेंस निलंबित किया गया, साथ ही, 07 दुकानों का लाइसेंस निरस्त करने की कार्यवाही हुई है. प्रदेश के विभिन्न जनपदों एक साथ हुई इस कार्यवाही में 421 लोगों को चेतावनी दी गई, 08 दुकानों में बिक्री प्रतिबंधित की गई, 05 दुकानें सील की गई जबकि 01 व्यक्ति के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की गई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here