जानिए कैसे! आंखों से भी फैल सकता है कोरोना संक्रमण ?

0
704

क्या आप जानते हैं कि कोरोना वायरस बहुत सूक्ष्म लेकिन प्रभावी वायरस है. कोरोना वायरस मानव के बाल की तुलना में 900 गुना छोटा है, लेकिन कोरोना का संक्रमण दुनिया भर में तेजी से  फैल रहा है।  देश में 63 हजार 347 कोरोना संक्रमित हैं। रविवार को दिल्ली में 381, आंध्रप्रदेश में 50, राजस्थान में 33 और बिहार में 18 मामले सामने आए। इससे पहले शनिवार को कोरोना के 2951 मरीज बढ़े। यह बीते एक सप्ताह में सबसे कम है। इससे कम 2564 मामले 2 मई को आए थे। कल 1414 मरीज ठीक भी हुए। दूसरी बार एक दिन में इतने ज्यादा मरीजों की अस्पताल से छुट्टी हुई। इससे पहले 7 मई को 1475 संक्रमित ठीक हुए थे। ये आंकड़े covid19india.org और राज्य सरकारों से मिली जानकारी के आधार पर हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में 62 हजार 939 संक्रमित हैं। 41  हजार 472 का इलाज चल रहा है। 19 हजार 357 ठीक हो चुके हैं, जबकि 2109 मरीजों की मौत हो चुकी है।

क्या कोरोना वायरस आंखों जरिए फैल सकता है?
जवाब: चीन में जेएएमए ऑप्थेमोलॉजी जर्नल में छपे डॉक्टरों के एक अध्ययन के अनुसार, कोराना वायरस आंखों के जरिए भी फैल सकता है। कुछ कोरोना संक्रमितों में कंजक्टिवाइटिस का संक्रमण देखा गया है। आमतौर पर ये वे मरीज थे, जिनमें संक्रमण ज्यादा था। ‘द अमेरिकन एकेडमी ऑफ ऑप्थेमोलॉजी’ के अनुसार, नाक और मुंह से छींकने या खांसने के दौरान निकलने वाले ड्रॉपलेट से संक्रमण होता है। ये ड्रॉपलेट आंखों से भी फैल सकते है। ऐसा मैम्ब्रेन के कारण होता है। हालांकि इस संबंध में अभी और जानकारी जुटाई जा रही है।

नोटों या सिक्कों के माध्यम से कोरोना वायरस किस प्रकार फैल सकता है?
जवाब: कोई संक्रमित व्यक्ति खांसते या छींकते वक्त अपने हाथों को मुंह पर रख लेता है या उसे हाथों से पोंछ लेता है, तो वायरस उसके हाथों तक पहुंच जाता है। फिर वह हाथों को सैनिटाइज किए या साबुन-पानी से धोए बगैर नोटों या सिक्कों को छूता है। वे नोट या सिक्के किसी स्वस्थ व्यक्ति के हाथ में चले जाते हैं। वह भी हाथों को साबुन-पानी से धोए या सैनिटाइज किए बगैर अपनी आंखों, नाक और मुंह को स्पर्श करता है और इस तरह वह भी संक्रमित हो जाता है। नोटों की अपेक्षा सिक्के वायरस का प्रसार ज्यादा कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here